लक्ज़री मैनेजमेंट में करियर

करियर बनाकर ढेर सारा पैसा कमाकर लगभग हर युवा तरह तरह की लक्ज़री का आनंद उठाना चाहता है। कैसा रहे अगर आपका करियर ही लक्ज़री के क्षेत्र में हो।

जिस रफ़्तार से भारत में लक्ज़री उद्योग बढ़ रहा है, जिस रफ़्तार से भारत में लक्ज़री उद्योग बढ़ रहा है,  उसे देखते हुए निकट भविष्य में इसमें लाखों जॉब्स सृजित होने जा रही हैं। बाकी फ़ील्ड्स की तरह इसमें भी मेहनत तो करनी पड़ती है,  लेकिन यहाँ मेहनत लक्ज़री की चकाचौंध के बीच होती है।

आज ग्लोबल लक्ज़री इंडस्ट्री लगभग २ ट्रिलियन डॉलर के आसपास है,  जिसके सालाना ६५ प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है। भारत की बात करें तो यह लगभग १० अरब डॉलर के आसपास है। यह सालाना करीब २० प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है। यानी भारतीय लक्ज़री मैनेजर्स की डिमांड न सिर्फ बनी हुई है,  बल्कि भविष्य में भी उनके लिए अनेक संभावनाएं निर्मित होंगी।

२०२२ तक इस सेगमेंट में करीब २० लाख ट्रेंड मेनपॉवर की जरुरत होगी। ऐसे में जिनके पास भी ब्रांड के हेरिटेज और हिस्ट्री की समझ के साथ नेटवर्किंग स्किल होंगी, वे लक्ज़री इंडस्ट्री में शानदार करियर का आगाज कर सकेंगे।



बेहतर है भविष्य

भारत में जिस तेजी से करोड़पतियों का क्लब बढ़ रहा है, इस नए इलीट वर्ग का विस्तार हो रहा है, उसे देखते हुए कई इंटरनेशनल लक्ज़री ब्रांड्स भारतीय ग्राहकों को लुभाने के लिए मार्केट में उतर रहे हैं। वे ग्राहकों के लिए डिज़ाइनर ड्रेस, हैण्डमेड ज्वेलरी, घड़ियाँ, एक्सेकरीज से लेकर प्रीमियम वेकेशन उपलब्ध करा रहे हैं। ऐसे में इंडस्ट्री को उन लक्ज़री मैनेजर्स की जरुरत है, जो ग्राहकों को ब्रांड के प्रति जागरूक करने के साथ ही उनकी डिमांड भी पूरी कर सकें।

नेटवर्किंग बड़े काम की

लक्ज़री ब्रांड्स को महत्वकांक्षी लोगों की जरुरत होती है, जिनके पास दृढ इच्छाशक्ति के साथ साथ करियर में आगे बढ़ने का जज्बा हो और पाने काम से लगाव।  आज ज्यादातर फैशन ब्रांड्स इंटरनेशनल क्लाइंट्स के साथ डील करते हैं। ऐसे में जिनकी कॉर्पोरेट क्लास के साथ तगड़ी नेटवर्किंग स्किल और इंडस्ट्री के डिसीजन मेकर्स के साथ बेहतर सम्बन्ध होते हैं, उन्हें स्थापित होने में दिक्कत नहीं होती है। यानी जिसने टाइम मैनेजमेंट के साथ ग्राहकों से अच्छे रिश्ते बना लिए, उनके लिए आगे बढ़ने के रास्ते खुले हैं।

कई तरह के काम

लक्ज़री एक विशाल सेगमेंट है। इसमें फैशन से लेकर ऑटोमोबाइल, ब्यूटी से लेकर स्किल केयर, ट्रेवल, टूरिज्म, फाइन डाईनिंग, वाचेस, ज्वेलरी, वैलनेस, हेल्थ एंड फिटनेस, स्पा, होम इंटीरियर आदि तमाम सेग्मेंट्स और सेक्टर्स शामिल हैं।

इसलिए यहाँ यंगस्टर्स के लिए मौके भी विविध हैं। वे स्टोर मैनेजमेंट, बाइंग एंड मर्चेंडाइजिंग सेक्टर में काम कर सकते हैं। मैनेजमेंट लेवल के अलावा फ्रंट एंड कस्टमर सर्विस में भी बड़ी संख्या में लोगों की जरुरत होती है। इस फील्ड में रेगुलर जॉब के साथ ही आप बिज़नस एंटरप्राइज भी शुरू कर सकते हैं। शुरुआत फ्रैंचाइज़ी से लेकर जॉइंट वेंचर या सिंपल डिस्ट्रीब्युशन मॉडल के तौर पर की जा सकती है।

लक्ज़री ब्रांड मेनेजर का काम किसी लक्ज़री प्रोडक्ट या सर्विस की इमेज को मार्किट में स्थापित करना और उसकी ब्रांड वैल्यू को बरकरार रखना होता है। एक कुशल लक्ज़री मेनेजर ब्रांड को उभरते हुए नाम से मार्किट लीडर बना देता है।

जरुरी स्किल

किसी भी लक्ज़री ब्रांड के साथ काम करने हेतु ख़ास तरह का एटीट्युड चाहिए होता है। वैसे तो किसी भी स्ट्रीम के विद्यार्थी लक्ज़री मैनेजमेंट में करियर बना सकते हैं लेकिन अंग्रेजी पर कमांड होना जरुरी है। आपको व्यवहार कुशल, सौम्य होने के साथ ही क्रिएटिव और कल्पनाशील होना भी जरुरी है। वहीँ, अच्छे रिलेशन स्किल्स और सुनने की क्षमता होने से आप विशवास के साथ लोगों के साथ डील कर सके हैं। हाँ, इसके लिए प्रोडक्ट्स की पूरी जानकारी रखना भी जरुरी होगी।

लक्ज़री इंडस्ट्री फेस वैल्यू और रिश्तों पर कायम है। सफल लक्ज़री ब्रांड मेनेजर बनने के लिए आपको रिश्ते बनाने की कला आनी चाहिए। अंग्रेजी व हिंदी के साथ किसी विदेशी भाषा का ज्ञान होना भी आपके पक्ष में रहता है, क्योंकि ज्यादातर लक्ज़री ब्रांड्स इंटरनेशनल होते हैं। उन्हें प्रभावी ढंग से तभी मैनेज किया जा सकता है जब आपको विदेशी भाषाओं का ज्ञान हो। ब्रांड को स्थापित करने के लिए बेहद कम समय में सही निर्णय लेने की क्षमता और अच्छा श्रोता होना भी जरुरी है।

आपके व्यक्तित्व में दृढ़ता होनी चाहिए क्योंकि इस क्षेत्र में आपका सामना दृढ़ व्यक्तित्व वाले ग्राहकों से होता है।



जरुरी क्वालिफिकेशन

फिलहाल भारत में पर्ल अकैडमी, एलसीबीएस जैसे कुछेक इंस्टिट्यूट ही लक्ज़री मैनेजमेंट या इससे जुड़े कोर्स ऑफर कर रहे हैं। एलसीबीएस में विद्यार्थियों को थ्योरेटिकल के अलावा इंडस्ट्री के एक्सपर्ट्स द्वारा प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दी जाती है। इसमें पर्सनालिटी डेवलपमेंट से लेकर कॉन्फिडेंस बिल्डिंग, कम्युनिकेशन स्किल शामिल है।

रोजगार के विकल्प

लक्ज़री ब्रांड मैनेजमेंट में स्पेशलाइज्ड कोर्स करने के बाद इस क्षेत्र के विभिन्न सेक्टर्स में जॉब की संभावनाएं तलाशी जा सकती हैं। मार्केटिंग एंड कम्युनिकेशन, पीआर एंड क्लाइंट रिलेशंस, ऑपेरशन एंड लोजिस्टिक्स, स्टोर मैनेजमेंट, डिस्ट्रीब्यूशन एंड वेयरहाउसिंग, डिजाइनिंग, मर्चेंडाइजिंग, प्रोडक्शन, बैंकिंग एंड फाइनेंस, इन्शुरन्स व कस्टमर कंप्लायंस जैसे सेक्टर्स में रोजगार की संभावनाएं तलाशी जा सकती हैं।

टॉप लेवल पर ब्रांड मेनेजर, कंट्री मेनेजर, ब्रांड एम्बेसडर जैसी पोजीशंस होती हैं।

लक्ज़री मैनेजमेंट के विद्यार्थी भविष्य में आर्ट डायरेक्टर बनकर किसी ब्रांड को सुपरवाइज़ कर सकते हैं। वे किसी सेलेब्रिटी के लाइफस्टाइल मेनेजर भी बन सकते हैं। यही नहीं, वे फैशन ट्रेंड्स, लक्ज़री शॉपिंग और वाइन-डाइन के विशेषज्ञ बनकर इनके बारे में जानकारियां भी दे सकते हैं।

लक्ज़री से लगाव जरुरी

किसी लक्ज़री ब्रांड के लिए काम करने हेतु एक विशेष तरह के एटीटयूड की जरुरत होती है। इस क्षेत्र में सुशिक्षित, अच्छे व्यवहार वाले, gooगुड लुकिंग और जज्बा रखने वाले उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जाती है। यह जरुरी है की जिस ब्रांड को आप प्रमोट कर रहे हैं, उसे अच्छी तरह जानते और पसंद करते हों। उसके प्रमोशन में आपको मजा आता हो। परिधानों के किसी ब्रांड को मैनेज करने के लिए रचनात्मकता और कल्पनाशीलता जरुरी होती है।

प्रमुख संस्थान

आईआईएम, अहमदाबाद

www.iimahd.ernet.in

पर्ल अकैडमी, नई दिल्ली

www.pearlacademy.com

लक्ज़री कनेक्ट बिज़नस स्कूल, गुडगाँव

www.lcbs.edu.in

लाइफस्टाइल एंड लक्ज़री मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट, चंडीगढ़  

www.llmi.in

 

 



 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *